वर्षवास 2019

वर्षवास 2019

साथीयो,
इस साल हम प्रभाव शाली वर्षवास लेना है जो तीन महिनेतक चलेगा किव कि भुसावल मे प्रभाव शाली वर्षवास कई वर्षो से नही हुवा है विद्वान भिक्खु के माध्यम से होता है तो हम सभीको महत्व पूर्ण धम्म शिकणे के लिये मिलेगा धम्म प्रचार का उत्थान का कार्य प्रगती पथ पर होगा हमारे मे ग्यान कि रिद्धी होगी अनेक सूत्र पठण होगे पाली का मुख्य ग्यान होगा तो चलो निमंत्रण देणे
30/6/2019 रविवार के दिन पूज्य भदन्त नापावल पन्यात्तीस्स महा थेरो इनको वर्षवास के लिये निमंत्र देना है

उनके रहेने के निवास्थान दर्शनन्द बुद्धविहार भुसावल दुफेर 1 बजे

हम सभीको निमंत्रण देणे जाना है
वर्षवास संबोधी बुद्धविहार मे होगा

पूज्य भदन्त नापावल पण्यातिस्स महा थेरो भन्ते का वर्षवास बडा महत्व पूर्ण
होता है हमे पाली सिकने ओर विनय से रहेने का मार्गर्दर्श मिलेगा अभि धम्म चित्त चित्तचैतसिक के बारमे सिखने मिलेगा हम धम्म का काम करते है लेकिन एक भी सूत्र पर धम्म देशाना नही दे सकते तो कैसे धम्म धर हम सिकने का भाव खुद मे तयार करो ओर अपने जोभी धम्म संघटन होगे उसमे तेजी से काम करो अपने पास.
यह बडा महत्व पूर्ण अवसर हमारे पास चलकर आरहा है, इस अवसर को खाली न जाणे दे. अगर कोई मन मुताऊ रखता है तो हमने धम्म नही शिखा हम धम्म के राहो पर है तो मैत्री से रहे. मुजसे कोई गलती हुई होगी तो मुझे क्षमा करे. आगे किसी ने यह नही बोलना चाहिये कि यह छुटगया वह छुटगया हमे मिलकर काम करणा है वर्षवास समापन भन्तेका देखणे लाईक होता है जो रात 3/ 4 बजेसे सुरु होता है जिसको कठीण दिवस कहेते जो मन मे कूच न रखते भाग लेता है वह बहुत पुनीत होता है उसका कल्याण हि कल्याण होता है इस पुण्यमय अवसर को ना छोडे , धम्म ग्रन्थ पढना उसको वर्षवास नही कहते तीन महिने उपोसथ धारण किया उसको वर्षवास नही कहेते दो दिन पाच दिन दस दिन या तीन महिने उपासक या उपासिका इन्होने धम्म देशाना दि फिर भी उसे वर्षवास नही कहते वह वह वर्षवास निमित्त प्रोग्राम करते है तथागत ने बनाये हुवे नियम उनके समय से चलते रहें है उपसपंदित भिक्खू को वर्षवास का निमंत्रण देना विद्वान भिक्खू जल्दी वर्षवास के लिये नही मिलते तथागत ने बताया है निमंत्रण देणेवाला वह अपनी पारमिता साथ लेकर आता है बहुत पुनीत होता है
हम सभी को एक साथ जाणा है | चाहे पाणी आये या ना आये
मै फोन करूगा इसकी राह न देखे बडा कल्याण हि कल्याण होगा मंगल हि मंगल होगा

30/6/2019 दुफेर 1 बजे
अंबेडकर नगर दर्शनंद बुद्धविहार भुसावळ